वो करें तो रासलीला, हम करें तो कैरेक्टर ढीला?

“बहुत हो गया अब। और नहीं चलेगा ऐसा।” पंकज भाई टेबल पर पूरी शिद्दत के साथ गड्डी की चावी फ़ेंकते हुए बोले। आराम से सुट्टे का एक कश लिया और टाँगें पसार कर कुर्सी पर फैल गये। “बात तो तूने बिल्कुल ही सही कही है भाई। वो करें तो रासलीला, हम करें तो कैरेक्टर ढीला? मण्णे तो ये बात ज़रा भी पसंद ना आई।” हेप्पी भाई भी अग्रीमेंट में आ गये। सुट्टों और ताश के बाद माहौल बन चुका था।

अभी हाल की ही बात थी। राहुल का अपनी बंदी के साथ ब्रेक अप हो गया। अब लौंडे को लगा कि चलो, कोई अपने ‘लेवल’ की तलाशते हैं, पर उसके सर पर जो तलवार लटक गयी थी उसका उसे अंदाज़ा तक नही था। हुआ यूँ, कि जो लड़कियाँ पहले अच्छे से उसे जानती थी, और जो नहीं भी जानती थीं, उनके लिये अपना लौंडा ओसामा-बिन-लादेन बन गया। सीधे मुँह बात करना तो दूर, लड़कियों ने उसे टोकना तक छोड़ दिया।

“लगता है कोई तगड़ा नेटवर्किंग है इनका। ब्रेक अप हुआ नहीं, कि लड़का अछूत बन गया। गलती भले ही किसी की भी रही हो।” शिवम भाई ने भी अपनी राय डाली, भले ही उंगलियाँ व्हॉट्सएप्प पर थिरक रही थी। सबका सर हाँ में डोला। ऐसी गहन चर्चा में मिश्रा जी कैसे चुप रहते? “अरे हम तो कब से बोल रहे हैं। बॉयकाट करो ई लड़की लोग का। अब इन्विटेशन ले के पीछे पीछे घूमोगे तो मरेगी ही ना तुम्हारी।” बिदक गये थे मिश्रा जी। “तुम तो चुप ही रहो। लौन्डिया से कभी बात तक किये हो ज़िन्दगी में?” पंकज भाई का काउन्टर आया। मिश्रा जी मन मसोस कर चुप रह गये। 

“लेकिन बात तो सही कही है भाई ने।” हैप्पी भाई सोंचते हुए बोले। “अगर हम भी ऐसा ही करें तो?” शिवम का सिर हलका सा ऊँचा हुआ। “मतलब?” पंकज के चेहरे पर मुस्कान खिल गई। “मतलब ये बरख़ुरदार, कि अगर अपने किसी लौंडे का ब्रेक अप होता है, तो उसकी बंदी को कोई घास तक नहीं डालेगा। समझे?” मिश्रा जी एक्साइटमेंट में खड़े हो गये। “गदर प्लान है भाई!”

“तो सब लोग अग्री करते हो?” हैप्पी ने पूछा। “हाँ!” चारों की सम्मिलित हुंकार आयी। फिर दो चार बाते और हुईं, और सब अपनी राह चल दिये। शिवम अभी तक फोन में घुसा पड़ा था। पंकज भाई ने उचक कर देखा कि चल क्या रहा है आखिर। उन्हें जो दिखा, उसने उनकी आँखे खोल दी। 

शिवम अवन्तिका से चैट कर रहा था। 

अवन्तिका कौन? …

राहुल की ‘एक्स’!

“ये लडके ना सुधरेंगे।” मन से आवाज़ आई।

– ज्ञान आकर्ष

Look for more interesting writes in menu just below the logo on home page. Read on…

What's your point of view?

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s